• नैनीताल कैन्ट बोर्ड ने समाधान वेबसाईट आरम्भ की है। आप अपनी शिकायत फोन द्वारा या ई-मेल द्वारा दर्ज करा सकते हैं या सीधे बोर्ड के कर्मचारी से संपर्क कर सकते हैं। बोर्ड का फोन नं0 है - 05942-235380 और ई-मेल का पता है : ceonainital@gmail.com
  • छावनी नागरिक घोषणा पत्र

    गठन

    कैन्टोनमैन्ट बोर्ड नैनीताल एक श्रेणी प्ट कैन्टोनमैन्ट है तथा बोर्ड का गठन निम्नलिखित रूप में हैः-

    सदस्य

    क्रमपदनाम नाम
    1अध्यक्ष :ब्रिगेडियर के.ए. महाबीर
    2उपाघ्यक्ष :श्रीमती दीपा रौतेला
    3सदस्य सचिव:वी.वी. राकेश रेड्डी पी
    4 निर्वाचित सदस्य :श्री जीतेन्द्र सिंह बिष्ट

    विशेष आमन्त्रित

    1श्री के.सी. सिंह बाबामाननीय संसद सदस्य
    2श्रीमती सरिता आर्य माननीय विधायक

    दैनंदिन प्रशासन कार्यपालक अधिकारी द्वारा देखा जाता है। मुख्य अधिकारी आई.डी.ई.एस. (भारतीय रक्षा संपदा सेवा) जो कि सिविल सेवाओं में से एक है, का अधिकारी होता है, बोर्ड के सदस्य के रूप में कार्य करता है तथा नियमावली के संबंध में दिशा निर्देश प्रदान करता है तथा वह बोर्ड द्वारा लिये गये निर्णयों को लागू करने के लिये भी जिम्मेदार होता है।

    वी.वी. राकेश रेड्डी पीसी ई ओ.235380(O) 235360 (R) 07579252750(M)
    सी ई ओ.को कार्यालय स्टाफ के रूप में विभिन्न अनुभागों के निम्नलिखित कर्मचारी सहायता करते हैं:
    नामपदनामसंपर्क
    श्री पी.एस.चैहान कार्यालय अधीक्षक 9411196833
    श्री आर.एस. पवार इन्जीनियरिंग अनुभाग 9411196854
    श्री डी.सी.तिवारी सफाई अनुभाग एवं अतिथि गृह प्रभारी 9411196768
    श्री जी.पी.शाह कैन्ट डिस्पेन्सरी 9412086007
    श्री प्रकाश कांडपाल फार्मासिस्ट कैन्ट डिस्पेन्सरी 9411343640
    श्री डी.एस.मेहता राजस्व एवं स्टोर456383239
    श्रीमती हेमा काण्डपाल कैन्ट प्राईमरी पाठशाला07579435358

    टाप पर जायें

    नैनीताल कैन्टोनमैन्ट काठगोदाम रेलवे स्टेशन से 36 कि0मी0 की दूरी पर समुद्र तल से 6900 फीट की ऊंचाई पर स्तिथ है | छावनी १८७८ में स्थापना हुई और ६१९.९६६ एकर में फैला है | कुल सिविल एरिया ५.४८३ एकर| सेन्सस २०११ के अनुसार छावनी में जनसँख्या १३९८ है| एरिया का विवरण नीचे दिया जाता है
    श्रेणीएरिया
    श्रेणी ऐ -1 - 64.023 एकड़
    श्रेणी ऐ -2 - 19.040 एकड़
    श्रेणी बी-1 - 3.148 एकड़
    श्रेणी बी-2 - 16.781 एकड़
    श्रेणी बी-3 - 18.840 एकड़
    श्रेणी बी-4 - 488.667 एकड़
    श्रेणी सी- 3.979 एकड़
    सिविल एरिया - 5.488 एकड़

    सूक्ष्म विवरण

    टाप पर जायें

    विवरण मात्रा
    क्षेत्र - 619.966 एकड़
    आबादी -1398: 2011 की जनगणना के अनुसार
    मार्ग -कैन्टोनमैन्ट बोर्ड, नैनीताल से होकर 4.00 कि0मी0 पी.डब्ल्यूडी मार्ग
    उपमार्ग - 4.30 कि0मी0
    वन - कैन्टोनमैन्ट एक वन का भी रखरखाव करता है जो 381.50 एकड़ में फैला हुआ है। इस वन में देवदार, पाईन और अन्य चैड़ी पत्ती वाले वृक्ष हैं। इस वन में वन्य जीवों का संरक्षण किया जाता है। कैंट का यह वन पर्याप्त घना और संरक्षित है।.
    उद्यान/पार्क -कैन्टोनमैन्ट में तीन छोटे पार्क हैं तथा मार्ग किनारे फूलों की क्यारियां हैं।

    नागरिकों के दायित्व

    • नागरिकों का दायित्व है कि वे पार्क व उद्यानों को स्वच्छ और साफ़ सुथरा रखने में बोर्ड को सहयोग करें।.
    • पार्क/उद्यानों में स्वच्छता बनाये रखें और कूड़ा करकट न फैलाएं।
    • खाली डिब्बे/पैकेट्स और छिलके इत्यादि उद्यान में रखे गये कूड़े दान में ही डालें।
    • पार्क/उद्यान में पौधे उखाड़ना या फूल तोड़ना मना है।
    • पार्क में साइकिल चलाने, फुटबाल या क्रिकेट खेलने की अनुमति नहीं है।
    • पार्क में ड्रग्स/मदिरा लाने और उसका सेवन करने की मनाही है।.
    • जुआ खेलने की अनुमति नहीं है।
    • उद्यान के शांत वातावरण में विघ्न न डालें।
    • खेल उपकरणों, झूलों इत्यादि का उपयोग समझदारी से व उचित रूप से करें ताकि उपकरणों को कोई क्षति न पहुंचे। बच्चों को प्राथमिकता दी जाये।

    विद्युत

    टाप पर जायें

    विद्युत की आपूर्ति, उाराखण्ड ऊर्जा निगम द्वारा की जा रही है। शिकायतों का निवारण उŸाराखण्ड ऊर्जा निगम के नैनीताल कार्यालय द्वारा किया जायेगा। स्ट्रीट लाईट से संबंधित पाप्त शिकायतों के संबंध में खराब लाईट््स को इंजीनियरिंग अनुभाग द्वारा कार्यालय में बदला जायेगा।

    स्ट्रीट लाईटिंग -एस.वी.एल प्वाइन्ट्स-20 सी.एफ.एल प्वाइन्ट्स-109
    नागरिक, स्ट्रीट लाईट से संबंधित शिकायत कार्यालय में दर्ज करा सकते हैं तथा त्रुटियों को सुधारने के लिये निम्नलिखित रूप से कार्रवाई की जायेगीः
    *विशेषसमय
    *फोन पर या बोर्ड कार्यालय में स्वयं उपस्थित होकर शिकायत दर्ज करना - तुरन्त
    *फ्यूज्ड बलब्स्, चोक इत्यादि बदलना - 1 दिन से 3 दिन के भीतर
    *ओवर हैड लाईन गिरने पर - 1 से 2 दिन के भीतर
    *क्षतिग्रस्त खम्भों को बदलना - 3 दिन के भीतर

    जल आपूर्ति

    कैन्ट बोर्ड के पास समस्त कैन्टोनमैन्ट के लिये अपनी स्वयं की स्वतन्त्र जल आपूर्ति योजना है। स्रोत जल को जलाशय में एकत्र कर वितरण हेतु टंकियों में पंप किया जाता है। कैन्ट बोर्ड एम.इ.एस के माध्यम से स्थानीय मिलिटरी प्राधिकारियों को भी एक करार के अन्तर्गत जल आपूर्ति कर रहा है। वर्तमान में सिविल आबादी को 4) घंटा सुबह और 3) घंटा शाम को जल आपूर्ति की जाती है। पेयजल की आपूर्ति सामान्य है किन्तु ग्रीष्म ऋतु में जल स्तर कम हो जाने और पर्यटकों की संख्या में भारी वृद्धि हो जाने पर आपूर्ति में कमी आ जाती है।

    विशेष मात्रा
    जल आपूर्ति 2.40 लाख लीटर प्रति दिन
    प्रति व्यक्ति जल । 140 लीटर प्रति दिन
    पंप्स् 30 के0डब्ल्यू 2
    पंप्स् 20 के0 डब्ल्यू 1
    पंप्स् 15 के0 डब्ल्यू 1
    जेनरेटर (40 केबवए) 1
    वाटर टैंक 50,000 लीटर 1
    वाटर टैंक 25,000 लीटर 3
    वाटर टैंक 5,000 लीटर 1
    वाटर टैंक 1,000 लीटर 1
    स्टैंड पोस्ट 4
    जलाशय 1 (1 लाख लीटर क्षमता)
    जल स्रोत क्षमता 2,40,000 लीटर प्रति दिन.
    जल संयोजन - 145
    ल प्रभार की दरें
    व्यावसायिक उपभोग - प्रति 1000 लीटर हेतु रू0 15.20 या प्रतिमाह न्यूनतम प्रभार रू0 465/-; दोनों में से जो अधिक हो।
    घरेलू उपभोग हेतु - प्रति 1000 लीटर हेतु रू0 15.20 या भवन का वार्षिक किराया मूल्य, दोनों में से जो अधिक हो।
    स्रकारी कार्यालय - प्रति 1000 लीटर रू0 15.20

    जल आपूर्ति से संबंधित सभी शिकायतों पर न्यूनतम संभव समय पर कार्रवाई की जाती है। इसका विवरण निम्नलिखित हैः -

    A. शिकायतें

    • म्ुख्य आपूर्ति लाईन में लीकेज 1 से 24 घंटे के मध्य
    • दूषित जल 1 से 24 घंटे के मध्य
    • जल आपूर्ति न होना उसी दिन सुबह 6ः00 बजे रत 10ः00 बजे के मध्य

    बी. जल संयोजन

    टाप पर जायें

    पेयजल हेतु क्या करें और क्या न करें-

    बोर्ड, नागरिकों को बेहतर सुविधायें, स्वच्छ जल प्रदान कर सके तथा जल की बरबादी को कम कर सके, इसके लिये नागरिकों से निवेदन है कि वे निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें -
    • लाईनों पर बूस्टर पंप्स्/उपकरण लगाने की अनुमति नहीं है।
    • कैंट बोर्ड की मुख्य लाईनों से जुड़ी पुरानी, जंक लगी या लीक करने वाली लाईनों को बदल दें।
    • जल को दूषित होने से बचाने के लिये सर्विस लाईन्स को सीवर लाईनों से दूरी पर डालें।
    • नागरिकों द्वारा अपयोग किये जाने वाले टैंक्स की समय समय पर सफाई की जानी चाहिये तथा इनमें उचित बाॅल बाॅक्स/वाॅल्व्स् लगे होने चाहिये ताकि पानी की लीकेज और बरबादी न हो।.
    • नागरिकों को 4 से 10 लीटर क्षमता के छोटे फ्लशिंग सिस्टर्न उपयोग में लाने चाहिये, ये बाजार में आसानी से उपलब्ध हैं।
    • लीक कर रहे बिब काॅक्स/स्टाॅप काॅक्स को तुरन्त बदलना चाहिये ताकि पानी की बरबादी न हो।
    • पेयजल का उपयोग पशुओं को नहलाने, वाहनों को धोने, फव्वारे, स्वीमिंग पूल, निर्माण कार्य, उद्यान/कृषि/सिंचाई, सड़क को धोने इतयादि के लिये न किया जाये।
    • जल आपूर्ति की लाईनों में किसी प्रकार की लीकेज या क्षति या जल के दूषित होने के मामलों की रिपोर्ट तुरन्त बोर्ड कार्यालय में की जाये।
    • सार्वजनिक स्थल पर लगे पानी के नलकों को क्षति न पहुंचाएं या उनके साथ छेड़छाड़ न की जाये या उन्हें निकाला न जाये ताकि पानी की बरबादी व कम प्रेशर को रोका जा सके।
    • जल अत्यन्त कीमती है, निम्नलिखित उपाय कर इसकी प्रत्येक बूंद की बचत करें-

      • दांतों में ब्रुश करते समय मग को भर लें और नल बंद दें, इससे 10 से 15 लीटर पानी की बचत होगी।
      • लीक कर रहे नलों की मरम्मत से प्रति दिन 200 से 1000 लीटर पानी की बचत होती है।

      शिकायत

      विशेष माह
      मलबा हटानाअप्रैल से जून।
      नालियों को खोलना यदि एफ/एन में रिपोर्ट किया गया है तो उसी दिन।
      नालियों की मरम्मत * छोटी मरम्मत - उसी दिन। * बड़ी मरम्मत - समयबद्ध कार्यक्रमानुसार।

      नागरिकों के दायित्व और स्वच्छता हेतु क्या करें, क्या न करें

      नालियां :

      टाप पर जायें

      कैंट बोर्ड नालियों का भली प्रकार रखरखाव और संरक्षण कर सके इसके लिये नागरिकों से निवेदन है कि वे निम्नलिखित बातों का ध्यान रखेंः -
      1. खुली नालियों या मैन होल में ईंट के टुकड़े, कपड़ा, पोलीथीन बैग्स, कागज, गोबर इत्यादि न डालें।
      2. सरकारी नीति के अनुसार सभी नागरिकों को अपने शुष्क प्रकार के शैचालयों को बदल कर जलीय शैचालयों में परिवर्तित करना आवश्यक है जिससे अस्वच्छता न हो और बीमारियां न फैलें।
      3. नाली बंद होने पर कैंट कार्यालय में रिपोर्ट करें।

      चिकित्सालय और औषधालय

      -

      बोर्ड का अपना एक औषधालय है जिसमें एक अंशकालिक चिकित्सक, एक फार्मासिस्ट और एक चपरासी/चैकीदार है इसके अतिरिक्त इस औषधालय के लिये एक दंत चिकित्सक और एक चक्षु विशेषज्ञ की भी सेवाएं ली जाती हैं। मरीजों को ओ.पी.डी. औषधियां निःशुल्क प्रदान की जाती है। औषधालय में औषधियों का पर्याप्त प्रावधान किया गया है।

      कैंट बोर्ड संपूर्ण कैंट में नालियों का रखरखाव व संरक्षण करता है।

      नागरिकों के दायित्व

      • नागरिकों से निवेदन है कि वे औषधालय में अनुशासन और उचित व्यवहार कायम रखें जिससे वहां भीड़-भाड़ और अव्यवस्था न हो।
      • चिकित्सक को एक बार में केवल एक व्यक्ति की जांच करने दें और अपनी बारी की प्रतीक्षा करें।
      • शांति बनाये रखें तथा शोर न करें अन्यथा अन्य मरीज़ों को इससे व्यवधान होगा।
      • परिसर में सवच्छता बनाये रखने में बोर्ड की सहायता करें तथा पोलीथीन, रद्दी कागज़ इत्यादि यहां-वहां न फैंकें।
      • सड़कों/दीवारों पर न थूकें।
      • परिवार में प्रत्येक जन्म व मृत्यु का पंजीकरण करवायें। यह विधिक रूप से आवश्यक है।
      • कोई शिकायत होने पर प्रभारी/किसी सदस्य/सीईओ से संपर्क करें।

      अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं - राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाती हैं।

      पाठशाला

      टाप पर जायें

      बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिये बोर्ड एक पाठशाला चला रहा है। इस पाठशाला में प्रधानाध्यापिका सहित तीन अध्यापिकाएं हैं। कैंट नगर पालिका क्षेत्र से लगा हुआ है तथा यहां अनेक अच्छे शिक्षण संस्थान हैं जिनमें कैंट क्षेत्र के लोग भी शिक्षा ग्रहण करते हैं। कैंट प्राथमिक पाठशाला में 61 बच्चे पढ़ रहे हैं। यहां पेयजल, विद्युत, कुर्सी, मेज, बालक-बालिकाओं के पृथक शौचालय इत्यादि सुविधायें उपलब्ध हैं। स्वस्थ वातावरण बनाये रखने के लिये चिकित्सा कैंप भी लगाये जाते हैं, जिससे विद्यार्थियों के मध्य संक्रामक रोग न फैले। यदि कोई प्रतिकूल रिपोर्ट प्राप्त होती है तो उसे रोकने के उपाय किये जाते हैं। पाठशाला में मध्याह्न भोजन, छात्रवृŸिा तथा निःशुल्क पुस्तकें भी प्रदान की जाती हैं।
      प्रवेश हेतु आवेदनः प्रत्येक वर्ष अप्रैल से प्रधानाध्यापिका के पास।
      सुविधाएं पाठशाला में पेयजल, शौचालय, खेल उपकरण व सामान, फर्नीचर, लाईटिंग इत्यादि की पर्याप्त सुविधाएं हैं।
      कोई शिकायत या वर्तमान शिक्षा सुविधाओं में किसी सुधार हेतु सी.ई.ओ./प्रधानाध्यापिका से संपर्क किया जा सकता है।

      व्यावसायिक शिक्षा केन्द्र

      टाप पर जायें

      व्यावसायिक शिक्षा दो शाखाओं में निःशुल्क पाठ्यक्रम के साथ आरम्भ किये गये।

      कम्प्यूटर कोर्स

      टेलरिंग

      रीडिंग रूम

      - बोर्ड एक रीडिंग रूम भी चलाता है, जहां जन सामान्य और बच्चों के लिये पत्रिकाएं, समाचार पत्र इत्यादि उपलब्ध हैं।

      भवन का रखरखाव

      टाप पर जायें

      ए. व्यावसायिक संपत्ति /आवासीय संपत्ति

      छोटी मरम्मत

      • पानी न आना, पानी की लीकेज - 1 से 24 घंटे के भीतर
      • सीमेन्ट, प्लास्टर, फर्श की मरम्मत - 15 दिनों के भीतर
      • लकड़ी का कार्य, नये शीशे लगाना।

      बड़ी मरम्मत

      • दरवाजे/खिड़की बदलना - 5 से 6 माह।
      • बड़े आकार के शटर्स का नवीनीकरण।
      • शीशे छत से सीलन, फर्श की बड़ी मरम्मत इत्यादि
      • बी. कार्यालय भवन, स्टाफ़ क्वाटर्स, पाठशाला भवन इत्यादि के दैनंदिन रख-रखाव से संबंधित शिकायतों का निपटारा निम्नलिखित अनुभाग द्वारा किया जाता हैः

        • बोर्ड का इन्जीनियरिंग अनुभाग, फोन न0 05942-235380 (का0) 09411196854 (मो)

        भवन योजनाएं

        • सभी पूछताछ व सलाह, आवेदनों में कोई कमी इत्यादि का निपटान कार्य दिवस में कनिष्ठ अभियंता के साथ आमने सामने बैठ कर किया जायेगा।
        • प्रपत्र, कनिष्ठ अभियंता द्वारा रू. 5/- का भुगतान प्राप्त कर प्रदान किया जायेगा।
        • भवन योजना स्वीकृति का निर्णय 60 दिनों के भीतर संप्रेषित किया जायेगा।

        1. भवन निर्माण, पुनर्निर्माण, भवन में बढ़ोतरी या उसमें परिवर्तन करने के इच्छुक व्यक्ति कैन्टोन्मेंट अधिनियम, 2006 की धारा 235 के अधीन बोर्ड को लिखित में नोटिस दे कर स्वीकृति हेतु आवेदन कर सकते हैं तथा प्रत्येक आवेदन के साथ निम्नलिखित दस्तावेज संलग्न होने चाहियेः
        2. नीलामी दस्तावेजों का जारी करना और खोलनाः नीलामी निविदा सूचना/निविदा में विनिर्दिष्ट किये गये अनुसार।
        3. आबंटन का निर्णय- आबंटन पत्र जारी होने/बोर्ड या सक्षम अधिकारी के अनुमोदन से 7 दिनों के भीतर ।
        4. असफल निविदा दाताओं को धरोहर राशि की वापसी- निविदा खुलने के 2/3 दिन के भीतर, सिवाय प्रथम, द्वितीय और तृतीय निविदा दाताओं के।

        टैक्स

        टाप पर जायें

        जन सामान्य व केन्द्र सरकार की संपत्तियों से निम्नलिखित कर और सेवा कर वसूल किये जाते हैंः
        1. भवन करः भवन या भूमि के वार्षिक किराया मूल्य पर 12.5 प्रतिशत की दर से।
        2. जल करः: भवन या भूमि के वार्षिक किराया मूल्य पर 12.5 प्रतिशत की दर से।
        3. व्यापार करः केन्द्र सरकार द्वारा अनुमोदित दर अनुसूची के अनुसार

        नागरिकों के दायित्वः

        1. नागरिकों से निवेदन है कि वे संपत्ति करों का पूरा भुगतान समय से करें ताकि कोई ब्याज न देना पड़े या मुकदमेबाजी कर स्थिति न आये तथा बोर्ड द्वारा जनता को बेहतर सुविधायें प्रदान करने में आसानी हो।
        2. कोई आवेदन करते समय या किसी प्रयोजन हेतु प्रपत्र भरते समय सही, सच्ची और अद्यतन जानकारी प्रदान करें।
        3. नागरिकों के लिये आवश्यक है कि वे व्यापार व व्यवसाय कर का भुगतान करने के पश्चात ही व्यापार/व्यवसाय करें।

        सार्वजनिक स्वास्थ्य टाप पर जायें

        स्वच्छता

        टाप पर जायें


        1.सड़कों व मार्गों की सफा़ईः दैनिक सुबह 7.00 बजे से 12.00 बजे दोपहर और 1.00 बजे दोपहर से 5.00 बजे सायं।
        2.कूड़ादानों से कूड़ा उठानाः दैनिकदैनिक
        3. कूड़ा न उठाने की शिकायत पर कूड़ा एकत्र करनाः - शिकायत प्राप्ति के 22 घंटे के भीतर।

        नगरिकों के दायित्व

        1. क्षेत्र में स्वच्छता का उच्च स्तर बनाये रखने और संक्रामक रोगों/महामारी से बचाव के लिये नागरिकों का सहयोग आवश्यक है। निम्नलिखित तरीके अपना कर नागरिक प्रशासन के साथ सहयोग कर सकते हैं
        2. घर का कूड़ा डालने के लिये बोर्ड द्वारा लगाये गये कूड़ादानों का ही प्रयोग करें इससे कूड़ादानों से समय-समय पर कूड़ा उठाने में बोर्ड को सहूलियत आसानी होगी।
        3. कूड़े को कूड़ादान में अच्छी तरह डालें जिससे वह इधर-उधर न गिरे और आवारा पशु उसे न फैलायें।
        4. भवन का मलबा या गोबर कूड़ादान में न डालें।
        5. कूड़े और मलबे को नालियों में न डालें इससे पानी का मुक्त प्रवाह बाधित होता है।
        6. बोर्ड की सूचना/अनुमोदन के बिना कोई नये कूड़ादान के पोइन्ट्स नहीं बनाये जायेंगे।
        7. पोलीथीन या अन्य बायो-डिग्रेडेबल सामग्री का प्रयोग न करें वरना रू. 5000/- का जुर्माना लगाया जायेगा।

        जन्म एवं मृत्यु पंजीकरण

        सफ़ाई निरीक्षक को सूचना प्राप्त होने पर जन्म एवं मृत्यु का पंजीकरण किया जाता है। जन्म एवं मृत्यु के प्रमाण पत्र आवेदन प्राप्ति के पश्चात् 3 दिनों के भीतर जारी किये जाते हैं।

        सड़कों का रख-रखाव

        नागरिकों से शिकायत प्राप्त होने पर कार्य निम्नानुसार पूरा किया जाता हैः

        1. Fगड्ढों को भरना : 2/3 दिनों के भीतर
        2. छोटे गड्ढों की मरम्मत : 7 से 10 दिन
        3. सड़क से अवरोध हटाना : 1 से 24 घंटो के भीतर
        4. बिना कवर वाले मैनहोल्स पर : 24 घंटों के भीतर कवर लगााना
        5. सार्वजनिक भूमि से मलबा हटाना: 2 दिनों के भीतर

        अतिथि गृह

        टाप पर जायें

        कैन्टोन्मेंट बोर्ड नैनीताल का एक अपना अतिथि गृह है जो बोर्ड द्वारा तय किये गये भुगतान पर उपलब्ध है।
        सामान्यः नैनीताल एक लोकप्रिय हिल स्टेशन है जसे समुद्रतल से 6900 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां एक झील है जो सुंदर देवदार और बांज के पेड़ों से घिरी हुई है। यह वर्ष भर के लिये पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बनी रहती है। नैनीताल की जलवायु स्वास्थ्य वर्धक और मनोहारी है।
        सामान्यः ए. भवन प्लानः कोई व्यक्ति भवन निर्माण या पुनर्निर्माण करना चाहता है या वर्तमान भवन में कोई बढ़ोतरी या परिवर्तन करना चाहता है तो उसे निर्धानित प्रपत्र पर बोर्ड को आवेदन करना होगा। यह प्रपत्र किसी भी कार्य दिवस में कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है। आवेदन/दस्तावेज में किसी कमी सहित सभी पूछताछ कार्य दिवस में 3.00 से 5.00 बजे अपराह्न में इन्जीनियरिंग अनुभाग के स्टाफ़ के साथ बैठ कर की जायेंगी। संपत्ति के दाखिल खारिज, पुरानी ग्रांट को फ्री होल्ड में परिवर्तित करना और संपत्ति के पट्टे के नवीनीकरण हेतु आवेदन कनिष्ठ अभियंता द्वारा स्वीकार किये जायेंगे। दस्तावेजों की प्रोसेसिंग की अवधि निम्नलिखित हैः B. संपत्ति के उत्परिवर्तन के लिए आवेदन, पुराने के रूपांतरण में फ्री-होल्ड अनुदान और संपत्ति नवीकरण के पट्टों के जूनियर इंजीनियर द्वारा स्वीकार किए जाते हैं। दस्तावेज़ प्रसंस्करण के लिए समय की अवधि इस प्रकार है:- ए. संपत्ति का दाखिल-खारिज - तीन माह के भीतर। बी. पुरानी ग्रांट में परिवर्तन, उच्चधिकारियों के पास फ्री होल्ड अधिकार के प्रस्ताव प्रस्तुत करना - 2 माह के भीतर। सी. पट्टे के नवीनीकरण प्रस्ताव उच्चाधिकारियों के पास प्रस्तुत करना - 2 माह के भीतर। भवन की प्रतियां प्राप्त करनाः पूर्व में स्वीकृत भवन प्लान की प्रतियां शुल्क का भुगतान कर कार्यालय से सात दिन के भीतर प्राप्त की जा सकती हैं।

        नागरिकों के दायित्वः

        टाप पर जायें

        1. Tनागरिकों को बोर्ड से स्वीकृति प्राप्त किये बिना भवन निर्माण नहीं करना चाहिये।
        2. Tसार्वजनिक सड़कें, माार्ग और लेन्स् सर्वसाधारण की सुविधा के लिये हैं उनमें किसी भी तरह का अतिक्रमण न किया जाये।
        3. सी.ई.ओ. की अनुमति के बिना होर्डिंग्स/विज्ञापन इत्यादि न लगाये जायें।
        4. कैन्टोन्मेंट में आवारा पशुओं के घुसने की अनुमति नहीं है।
        5. R सी.ई.ओ./बोर्ड की अनुमति के बिना सड़क/मार्गों में खुदाई न की जाये।

        बेहतर सुविधा प्रदान करने हेतु कैंट बोर्ड की सहायता करें